14 मई - भारतीय लोकतंत्र का ऐतिहासिक दिन

अपडेट किया गया: 17 मई 2020

आज का दिन हमारे लिए बहुत ऐतिहासिक है, भारतीय लोकतंत्र में आज के दिन दो महत्वपूर्ण घटनाएँ घटित हुई थीं। इस खास दिन ने देश को दो ऐसे नेतृत्व दिए जिन्होंने देश को अंतरराष्‍ट्रीय नक्‍शे पर अलग और मजबूत पहचान दिलाई।

आज का दिन हमारे लिए बहुत ऐतिहासिक है, भारतीय लोकतंत्र में आज के दिन दो महत्वपूर्ण घटनाएँ घटित हुई थीं। इस खास दिन ने देश को दो ऐसे नेतृत्व दिए जिन्होंने देश को अंतरराष्‍ट्रीय नक्‍शे पर अलग और मजबूत पहचान दिलाई। 16 मई सन 1996 में भारतीय राजनीति के सूर्य, भारत रत्न स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेई जी ने 10वें प्रधानमंत्री जी के रूप में शपथ ली थी। वहीं दूसरी ओर आज ही के दिन लोकसभा चुनाव 2014 में भारी जीत के रूप में यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को जनता का आशीर्वाद प्राप्त हुआ था। जब देश ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के हक में अपना फैसला सुनाया तो कई मायनों में देश उसी वक्‍त बदल गया था। मैं भाग्यशाली हूँ कि मुझे भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई जी के स्नेह और आशीर्वाद के साथ ही हमारे यशश्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का सानिध्य एवं मार्गदर्शन प्राप्त हुआ। आज भारत रत्न स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेई जी की आत्मा अत्यंत प्रसन्न हो रही होगी कि उनके विजन के अनुरूप प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी भारत का निर्माण कर रहे हैं।